आई क्यू ने मनाया आन लाइन फाउंडेशन डे

इदार ए कुरआन 12वीं क्लास तक सीबीएसई पेटर्न क्वालिटी एजुकेशन तथा इस्लामी शिक्षा में दर्से निजामी की मुकम्मल दीनी तालीम देने वाला नॉर्थ का पहला संगम एजुकेशनल इंस्टीट्यूट होगा। जिसके कंस्ट्रक्शन का काम तेज़ी से चल रहा है। कल 16 जून को लाक डाउन की पालना करते हुए इसका पहला फाउंडेशन डे आन लाइन मनाया गया जिसमें आईक्यू के सेक्रेटरी मुफ्ती खालिद अयूब मिस्बाही ने अब तक की मुकम्मल तरक्की रिपोर्ट और आगे के निम्नलिखित प्रोजेक्ट पेश किए:

(1) आई क्यू सोशल यूनिट का गठन:- इदार ए कुरआन की ओर से स्वास्थ्य, रोजगार, स्वच्छता आदि सामाजिक जरूरतों पर काम करने के लिए आई क्यू सोशल यूनिट नामक उप संगठन गठित किया गया जिसकी जिम्मेदारी मोहम्मद नफीस और मास्टर खालिद महमूद को दी गई। इन्होंने अपनी जिम्मेदारी की शुरुआत करते हुए कल ही सबसे पहले इदार ए कुरआन की जमीन पर वृक्षारोपण का काम किया और शाम को शेरानी आबाद के बाजार में बेजुबान परिंदों के लिए मौलाना अब्दुल हकीम मिस्बाही, इमाम जामा मस्जिद, शेरानी आबाद के मुबारक हाथों परिंडे लगाए।

(2) TUH Web & App Launching:- आन लाइन ईवंट में इंजीनियर मोहम्मद आरिफ द्वारा डेमू पेश कर तहरीक उलमा ए हिंद की वेबसाइट और गूगल एप्प का शुभारंभ किया गया।
(1) वेब लिंक: www.tuhind.org
(2) एप्प लिंक: https://play.google.com/store/apps/details?id=tuhind.org
क्योंकि नॉन ऑफिशियल तौर पर इदार ए कुरआन भी तहरीक उलमा ए हिंद के मातहत है, इसलिए इसकी तफसीलात भी इन्हीं वेब और ऐप्प पर अवेलेबल होंगी।

(3) आईटी टीम का गठन:- आई क्यू और तहरीक उलमा ए हिंद को तकनीकी तौर पर आगे बढ़ाने के लिए आईटी टीम का गठन किया गया जिसके अभी चार सदस्य होंगे: (1) इंजीनियर सैयद हसन अब्दाल, छत्तीसगढ़, (2) इंजीनियर सैयद जाहिद हुसैन, बीकानेर, (3-4) इंजीनियर मोहम्मद आरिफ खान और इंजीनियर मोहम्मद इरशाद खान, शेरानी आबाद।

(4) लीगल एडवाइजर का तकर्रुर:- सुप्रीम कोर्ट के वकील एडवोकेट इदरीस मोहम्मद को इदार ए कुरआन तथा तहरीक उलमा ए हिंद का लीगल एडवाइजर मुकर्रर किया गया और उन्हें सर्व प्रथम इदार ए कुरआन की ट्रस्ट डीड सौंपी गई, जिसमें वह जनता द्वारा दिए गए सुझाव के अनुसार कुछ अनिवार्य और उचित संशोधन करेंगे।

(5) दारुल इफ्ता ई-सर्विस:- आई क्यू के बहुत से इरादों में से एक काम दारुल इफ्ता ई-सर्विस भी है, जिसका पहले सालाना जश्न के मौके पर आगाज़ किया गया और मुफ्ती मोहम्मद शरीफ अमजदी तथा मौलाना मोहम्मद रफीक सादी को जिम्मेदारी सौंपी गई। ये दोनों हजरात ईमेल आईडी onlinedarulifta786@gmail.com और व्हाट्स ऐप 7303778627 / 9166445142
पर जनता द्वारा पूछे गए प्रश्नों के इस्लामी शरीयत अनुसार आन लाइन उत्तर देंगे।
मुफ्ती मोहम्मद शरीफ अमजदी, दारुल उलूम फ़ैज़े सुबहानी, मुंब्रा, मुंबई के प्रिंसिपल और वहां दारुल इफ्ता के सदर मुफ्ती हैं। मौलाना मोहम्मद रफीक सादी, दारूल उलूम फैजाने अशरफ, बासनी के शोबा ए अरबी के सीनियर टीचर हैं।

(6) आई क्यू ई-लर्निंग सिस्टम:- लाक डाउन के चलते आई क्यू ई-लर्निंग सिस्टम शुरू किया गया है, जिसके अंतर्गत मौलाना अहमद अली फैजानी ऑनलाइन पवित्र क़ुरआन की शिक्षा देंगे।
इस सिस्टम के अंतर्गत दो प्रकार की ई-क्लासेज़ चलाई जाएंगी:
(For Beginners) एक क्लास उन लोगों के लिए जो बिल्कुल क़ुरआन शरीफ पढ़ना नहीं जानते, उनके लिए 2 महीने तक क्लास चलाई जाएगी,
(For Adults) दूसरी क्लास उन लोगों के लिए चलाई जाएगी जो क़ुरआन शरीफ पढ़ना तो जानते हैं लेकिन सही पढ़ना नहीं जानते और अब सीखने के ख्वाहिशमंद हैं।
इस सिस्टम से बुनियादी तौर पर उन लोगों को फायदा होगा जिनको क़ुरआन शरीफ पढ़ने, या सही पढ़ने का शौक है लेकिन उन्हें पढ़ाने वाला मयस्सर नहीं। इसी प्रकार इस सिस्टम से वो भाई भी बहुत ज्यादा फायदा उठा पाएंगे जो विदेश में रहते हैं।

(7) 3 किताबी प्रोजेक्ट:- गैर मुस्लिमों के बीच इस्लाम धर्म के परिचय, पवित्र क़ुरआन के परिचय तथा दुनिया भर में बढ़ती हुई नास्तिकता के प्रति 3 पुस्तकों पर तफसीली कार्य करने का प्रोजेक्ट तैयार किया गया है, जिसकी जिम्मेदारी यूपी के मौलाना जाहिद अली मरकजी और मुफ्ती खालिद मिस्बाही को सौंपी गई। यह तीनों किताबें बहुत जल्द तैयार की जाएंगी।

(8) आई क्यू आन लाइन एडवाइजरी सर्विस:- यह बहुत अनिवार्य और बहुत ही महत्वपूर्ण ई-सर्विस है, जिसके तहत कोई कहीं से भी आई क्यू को सुझाव/ फीडबैक दे सकता है, या आईक्यू बाबत कोई सवाल कर सकता है

और

इसी प्रकार व्यक्तिगत रूप से शिक्षा और व्यवसाय आदि बाबत इस सर्विस के माध्यम से अलग-अलग मैदानों के एक्सपर्ट्स से सुझाव ले भी सकता है।
इस सर्विस का सबसे ज्यादा फायदा उन युवाओं को मिलेगा जिन्हें समय रहते प्रोपर गाइडलाइन नहीं मिल पाती और कई बार वह केवल इस एक वजह से जिंदगी का बड़ा अचीवमेंट गंवा बैठते हैं। इस सर्विस का लिंक यह है:
https://tuhind.org/एडवाइजरी-सर्विसेज/

(9) आओ कामयाबी की तरफ:- तहरीक उलमा ए हिंद के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल तहरीक टीवी (लिंक ) http://www.youtube.com/c/IslamicDuniyaChannel
पर हर सप्ताह मिल्लत के हक में जरूरी और करंट इश्यूज पर प्रोग्राम हुआ करेंगे जिनमें रोजगार, स्वास्थ्य, शिक्षा, वूमेन एंपावरमेंट आदि इश्यूज पर एक्सपर्ट्स अपनी राय देंगे। इन प्रोग्रामों को प्रसिद्ध वरिष्ठ पत्रकार अखलाक अहमद उस्मानी और इंजीनियर मोहम्मद आरिफ खान होस्ट करेंगे।

(10) कुरआन मेडल:- प्रसिद्ध इस्लामी दर्सगाह जामिया अशरफिया, मुबारकपुर के अरेबिक डिपार्टमेंट के मौलाना हबीबुल्लाह बेग मिस्बाही अजहरी को पवित्र क़ुरआन बाबत उनकी खिदमात पर सिपास नामा पेश किया गया और उन्हें तर्जुमानुल क़ुरआन का खिताब दिया गया।
मौलाना अजहरी अब तक कुरआन मजीद पर कई किताबें और अच्छे खासे मकाले लिख चुके हैं, लगभग 300 तकरीरें कर चुके हैं और अनवारुल क़ुरआन के नाम से अपने शहर मछलीपट्टनम, आंध्र प्रदेश में बहुत बड़ा कुरआनिक एजुकेशनल इंस्टिट्यूट खड़ा करने में जुटे हुए हैं।

इस पहले ऑनलाइन जश्न में देश विदेश से कई एक्सपर्ट्स, पत्रकार, एजुकेशनिस्ट, उलेमा, बुद्धिजीवी तथा समाजसेवियों ने शरीक होकर अपना उत्साह प्रकट किया और अंत में सब लोगों के लिए विशेष दुआ की गई।

रिपोर्ट:- मीडिया प्रभारी
अली शेर खान, भास्कर संवाददाता, शेरानी आबाद, नागौर, राजस्थान

Add Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *